चंद्रशेखर आजाद की मुखबिरी किसने की थी | चंद्रशेखर आजाद की पत्नी का नाम

Spread the love

चंद्रशेखर आजाद की मुखबिरी किसने की थी और चंद्रशेखर आजाद की पत्नी का नाम क्या है? आज हम इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इस सवालों का ज़वाब भी देंगे और इससे जुडी कई सारी अन्य जानकारी भी आपको उपलब्ध कराएँगे. इसके लिए इस लेख को पूरा पढ़िए.

ऐसा कोई भी भारतीय नहीं होगा जो चंद्रशेखर आजाद को नहीं जनता होगा और न कभी उसके बारे में सुना होगा. जैसा की हम सब जानते हैं कि चंद्रशेखर आजाद भारत के एक महान क्रन्तिकारी थे. उन्होंने भारत की आज़ादी के लिए अपनी जान तक निछावर कर दिया. कहा जाता है की वो बचपन से ही उग्र स्वभाव के व्यक्ति थे.

उग्र होने के कारण अंग्रेज भी उनसे बहुत डरते थे. और उन्होंने यह कसम भी खा राखी थी की जब तक जिन्दा रहूँगा कभी अंग्रेजो के हाथ नहीं आऊंगा. इसी लिए चंद्रशेखर आजाद ने अंग्रेजों के सामने अपना हथियार नहीं डाला और उन्होंने खुद को गोली मर ली. और अंग्रेजो के हाथ में नहीं आये. इस लेख के माध्यम से हम आपको इसके आलावा कुछ और भी अनजानी जानकारियां देंगे. इसके लिए आप इस लेख को पूरा पढ़ें.

चंद्रशेखर आजाद का पूरा नाम

चंद्रशेखर आजाद
चंद्रशेखर आजाद Image sorce- wikipedia.org

अक्सर लोग उन्हें चंद्रशेखर आजाद के नाम से जानते हैं. कई लोगों को उनके पूरे नाम के बारे में नहीं पता हैं तो आपको हम बता देते हैं कि उनका पूरा नाम चंद्रशेखर सीताराम तिवारी था. क्योकि उनके पिता का नाम श्री सीताराम तिवारी था इस लिए उनके नाम के बाद उनके पिता का नाम आता था और उनकी माँ का नाम श्रीमती जगरानी देवी था.

See also  How is Oxygen and Carbon Dioxide Transported in Human Beings

उनका जन्म 23 जुलाई सन 1906 में मध्यप्रदेश के गाँव भाबर में हुआ था.लेकिन उनका मूल गाँव बदरका जिला उन्नाव राज्य उत्तर प्रदेश था. लेकिन वहां आकाल पढने के कारण उनके पिता को वहां से मध्यप्रदेश के भाबरा आना पढ़ा.

चंद्रशेखर आजाद नाम कैसे पड़ा

महात्मा गाँधी ने जब बर्ष 1921 में असहयोग आन्दोलन को शुरू किया था तब चंद्रशेखर जी उस आन्दोलन में सामिल हो गए थे तब उनकी उम्र सिर्फ 15 वर्ष ही थी. इस आन्देंलन के दौरान उनकी गिरफ्तारी भी हुई जोकि उनकी पहली गिरफ्तारी थी.

जब अगले दिन उन्हें न्यायालय में परेश किया गया तो मजिस्ट्रेट ने उनका नाम पुँछा तो उन्होंने अपना नाम आज़ाद बताया, फिर पिता का नाम पूछा तो स्वतन्त्र बताया और उनका पता पुँछा तो जेल बताया.

इन जवाबो से जज भड़क गया और सिर्फ 15 वर्ष के चंद्रशेखर पर जज से 15 कोड़े मारने की सजा सुनाई. चंद्रशेखर यह वीरता की कहानी पुरे बनारस में फ़ैल गयी तब से उन्हें चंद्रशेखर आज़ाद के नाम से जाने जाना लगा.

See also  क्या गैस सिलेंडर सस्ता होगा | Kya Gas Cylinder Sasta Hoga

चंद्रशेखर आजाद की पत्नी का नाम

अब बात आती है चंद्रशेखर आज़ाद की शादी और पत्नी के नाम की, यह सवाल कई बार लोगों के मन में आता है कि उनकी पत्नी का क्या नाम था तो आपको हम यह बता देते हैं की उन्होंने ने कभी शादी ही नहीं की थी. उन्होंने अपनी सारी उम्र देश के नाम कर दया था. वो एक क्रांतिकारी थे और देश के लिए उन्होंने खुद को निछावर कर दिया.

चंद्रशेखर आज़ाद अपने दोस्त मास्टर रुद्र नारायण के परिवार के साथ
चंद्रशेखर आज़ाद अपने दोस्त मास्टर रुद्र नारायण के परिवार के साथ

चंद्रशेखर आजाद की कुछ प्रमुख बातें

  • चंद्रशेखर आजाद का पूरा नाम चंद्रशेखर सीताराम तिवारी हैं।
  • चंद्रशेखर आजाद के पिता का नाम सीताराम तिवारी। जो कि माली का काम करते थे।
  • चंद्रशेखर आजाद की माता का नाम श्रीमती जगरानी देवी। जो कि गृहिणी थी।
  • चंद्रशेखर आजाद का भाई सुखदेव।
  • चंद्रशेखर आज़ाद की उम्र केवल 24 वर्ष थी।
  • चंद्रशेखर आज़ाद का जन्म दिन सोमवार, वर्ष 23 जुलाई 1906।
  • उनकी मृत्यु 27 फरवरी 1931 को हो हुआ।

चंद्रशेखर आज़ाद की मृत्यु कहाँ हुई थी?

चंद्रशेखर आजाद की मृत्यु एक पार्क में हुयी थी उन्होंने अंग्रेजों के हाथ न लगे, इसलिए खुद गोली मार ली थी.

See also  आधार कार्ड अपडेट मोबाइल नंबर: (2023) पूरी जानकारी और समय

यह अल्फ्रेड पार्क था आज उस पर को चंद्रशेखर आजाद पार्क के नाम से जाना जाता है। जोकि इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश में यह पार्क स्थित है।

चंद्रशेखर आजाद की मुखबिरी किसने की थी

उन दिनों भगत सिंह की गिरफ्तारी हो चुकी थी और संगठन भी बिखरने लगा था. 27 फरवरी 1931 को चंद्रशेखर आज़ाद आनंद भवन में पंडित जवाहर लाल नहरू से मिलने के बाद, इन सब पर बात करने के लिए अल्फ्रेड पार्क में जिसे आज चंद्रशेखर आज़ाद पार्क के नाम से जाना जाता है वहां चंद्रशेखर आज़ाद और सुखदेव राज़ सुबह करीब 9 बजे वहां पहुचें.

वह पेड़ जिसके चबूतरे पर आजाद ने खुद को गोली मारी
वह पेड़ जिसके चबूतरे पर आजाद ने खुद को गोली मारी

वीरभद्र तिवारी ने उन दोनों को अल्फ्रेड पार्क में देख लिया था. और उसने तुरंत जाकर पुलिस अधिकारी शम्भुनाथ को इसकी जानकारी दे दी. और शम्भुनाथ ने अंग्रेज़ अफसर मैजर्स को इसकी जानकारी दे दी. जिसके कारण आर्म्ड फोर्स के 80 जवानों ने अल्फ्रेड पार्क में उन पर हमला किया.

आज ही जाने : कल का मौसम

निष्कर्ष

हमने इस पोस्ट के माध्यम से चंद्रशेखर आजाद की मुखबिरी किसने की थी और चंद्रशेखर आजाद की पत्नी का नाम क्या था इस सवाल का ज़वाब देते हुए उनकी शादी का भी खुलाशा किया हैं इसके साथ-साथ हमने चंद्रशेखर आज़ाद के और कई मुख्य बातों को आपके सामने आले की कोशिश की हैं. उम्मीद करते हैं कि आपको यह पोस्ट चंद्रशेखर आजाद की पत्नी का नाम पसंद आई होगी. आपको यह पोस्ट कैसा लगा हमे कमेंट कर के ज़रूर बताये.

यह भी पढ़ें : सरकारी नौकरी की ख़बरे


Spread the love

Leave a Comment